Monday, January 26, 2009

इसका वक्त गवा है...


1
वतन के लोगों
सलामत रहो तुम
मुल्जिम है कौन
इसका वक्त गवा है...
2
न्याय के साथी
अन्याय न करना
आरोपी है कौन
इसका वक्त गवा है...
संविधान की परंपरा
बचाना तेरा कर्म
बलिदानी है कौन
इसका वक्त गवा है...

देश के खातिर
जान भी देना
देशद्रोही है कौन
इसका वक्त गवा है...


मनोज कुमार राठौर

5 comments:

  1. अच्छी पोस्ट और गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  2. बढ़िया.

    आपको एवं आपके परिवार को गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

    ReplyDelete
  3. गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

    ---आपका हार्दिक स्वागत है
    गुलाबी कोंपलें

    ReplyDelete
  4. बहुत अच्‍छा.....गणतंत्र दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाएं।

    ReplyDelete